गर्भगृह में पहुंचे विपक्ष के सदस्य, जमकर किया हंगामा, सदन की कार्यवाही बुधवार तक के लिए स्थगित

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा के बजट सत्र के दूसरे दिन विपक्ष ने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सरकार को घेरा। प्रश्नकाल के बाद विपक्ष ने स्थगन प्रस्ताव लाकर आसंदी से स्वीकार कर सदन की कार्यवाही रोककर चर्चा कराने की मांग की। विपक्ष के वरिष्ठ विधायक बृजमोहन अग्रवाल और पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने इस संबंध में अपनी बार रखी। विपक्ष का तर्क सुनकर विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने नामंजूर किया। सदन की कार्यवाही को आगे बढ़ाने का निर्देश दिया। इस पर विपक्ष के सदस्यों ने नाराजगी जताते हुए नारेबाजी शुरू की। सभी सदस्यों ने गर्भगृह में प्रवेश कर धरना दिया। गर्भगृह में प्रवेश के कारण सभी सदस्य स्वमेव निलंबित हुए। सदन की कार्यवाही पांच मिनट के लिए स्थगित की गई। इसके बाद भी विपक्ष के सदस्य धरने पर बैठे रहे। सभी बाहर निकले और विधानसभा परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के पास धरने पर बैठे। सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते रहे। विपक्ष के इस रवैये पर विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने बुधवार तक के लिए सदन की कार्यवाही स्थगित की।