ब्रेकिंग:एसपी संतोष सिंह की टीम ने किया था गिरफ्तार, छह साल बाद अदालत ने पूर्व विधायक को सुनाई आजीवन कारावास की सजा

रायगढ़। रायगढ़ के तत्कालीन एसपी संतोष सिंह की टीम ने दोहरे हत्याकांड मामले में खुलासा किया था। जिसके बाद आज आरोपी को सजा सुनाई गई है। दरअसल छह साल पुराने बहुचर्चित मां-बेटी के दोहरे हत्याकांड मामले में अदालत ने आरोपी बृजराजनगर, ओडिशा के पूर्व विधायक अनूप साय को आजीवन कारावास की सजा दी गई है। साथ ही साक्ष्य छुपाने के मामले में 7 साल की सजा सुनाई गई है। 

ये है पूरा मामला : 7 मई 2016 को ग्राम संबलपुरी थाना चक्रधरनगर निवासी कमलेश गुप्ता ने थाना में हमीरपुर मार्ग पर मां शाकंम्बरी प्लांट के रास्ते पर एक महिला और एक बालिका का शव पड़े होने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की, जिसमें घटनास्थल के आसपास के ग्रामों में पूछताछ, सीसीटीवी फुटेज, कई मोबाइल टावर के डाटा का एनालिसिस किया गया।

पुलिस की जांच में मृतिका की पहचान कल्पना दास पिता रूदाक्ष दास और लड़की की पहचान उसकी बेटी बबली श्रीवास्तव के रूप में की थी। मृतिका के मोबाइल का काल डिटेल निकालने के बाद बृजराजनगर, ओडिशा से बीजू जनता दल के पूर्व विधायक अनूप कुमार साय को गिरफ्तार किया था।