शादी नहीं हो रही लड़कों को फंसाता था महिलाओं का गिरोह, विवाह के बाद जेवर और पैसे लेकर भाग जाती थी दुल्हन

गुना। मध्यप्रदेश के गुना जिले में लुटेरी दुल्हन का गिरोह पकड़ा गया है। इस गिरोह की महिलाएं ऐसे युवाओं को अपने जाल में फंसाती थी, जिनकी शादी होने में दिक्कत आती थी। युवतियां उनसे शादी करने के बाद जेवरात और नगदी लेकर चंपत हो जाती थी। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मामला मधुसूदनगढ़ थाना क्षेत्र का है। यहां की रूपाहेड़ी निवासी लाखन लोधी ने आपबीती पुलिस अधीक्षक राजीव कुमार को बताई। लाखन के अनुसार उसकी शादी नहीं हो रही थी। उसके पिता विक्रम बापचा ने अपने क्षेत्र की ही महिला कलाबाई मीणा से चर्चा की तो 8 मई को वीरपुर निवासी गोविंद मीणा, लाखन व उसके पिता नवल लोधी को लेकर वह लुटेरी पहुंची और मजबूत सिंह यादव सहित अन्य लोगों से मुलाकात कराई। इन सभी ने शादी कराने के एवज में 70 हजार की मांग की। इसके बाद लाखन की शादी एक मंदिर में ममता नामक लड़की से करा दी गई। लाखन ने बताया कि शादी होने के बाद ममता ने मां की तबीयत खराब होने की बात कही और मायके चली गई। वह लौटी तब जब उसने 15 हजार रुपए ले लिए। दो दिन बाद फिर वह भागने लगी। जब सफल नहीं हुई तो उसने अपने साथियों को बुलाया और वे लोग उसे जोर जबरदस्ती कर अपने साथ ले गए।
लाखन की शिकायत को पुलिस अधीक्षक राजीव कुमार ने गंभीरता से लिया और इसके लिए जांच पड़ताल की तो बात सही पाई गई। इसके लिए जाल बिछाया और इस गिरोह की चार महिलाओं सहित छह लोगों को गिरफ्तार करने में सफलता पाई। अभी भी गैंग के पांच आरोपी फरार हैं। पुलिस ने आरोपियों तक पहुंचने के लिए एक आरक्षक को ग्राहक बनाकर इन लोगों के पास भेजा। उस आरक्षक ने बताया कि शादी नहीं हो रही और वह शादी करना चाहता है। आरोपियों ने उससे एक लाख बीस हजार रुपये की मांग की। उसी समय एक कार से गैंग के सदस्य आए हैं,जिन्हें पुलिस ने पकड़ लिया।

 


अभी-अभी

और पढ़ें