प्रसिद्ध अभिनेत्री मीना कुमारी यानी 'महजबीं बानो' की जयंती आज, विजय भट्ट की फिल्म 'लेदरफेस' से की थी शुरुआत

रायपुर। फिल्म जगत की प्रसिद्ध अभिनेत्री मीना कुमारी यानी 'महजबीं बानो' की रविवार को जयंती है। मीना कुमारी अपनी दर्द भरी आवाज और भावनात्मक अभिनय के लिए दर्शकों के बीच बहुत प्रसिद्ध रही हैं। उनकी 'साहिब बीबी और ग़ुलाम', 'पाकीज़ा', 'परिणीता', 'बहू बेगम' और 'मेरे अपने' दिल को छू लेने वाली कलात्मक फिल्में हैं। गौरतलब है कि मीना कुमारी का जन्म 1 अगस्त, 1932 को मुंबई, महाराष्ट्र में एक मध्यम वर्गीय मुस्लिम परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम अली बख़्श था और माता इकबाल बेगम (मूल नाम प्रभावती) थीं। मीना कुमारी का मूल नाम 'महजबीं बानो' था।

जब उनका जन्म हुआ, तब पिता अली बख्‍श और मां इकबाल बेग़म के पास डॉक्‍टर को देने के पैसे नहीं थे। हालत यह थी कि दोनों ने तय किया कि बच्‍ची को किसी अनाथालय के बाहर सीढ़ियों पर छोड़ दिया जाए और छोड़ भी दिया गया। लेकिन, पिता का मन नहीं माना और वह पलट कर भागे और बच्‍ची को गोद में उठाकर घर ले आए। किसी तरह मुश्किल भरे हालातों से लड़ते हुए उन्होंने उसकी परवरिश की। मीना के पिता एक पारसी थिएटर में काम किया करते थे और माता एक नर्तकी थीं। परिवार की आर्थिक स्थिति ख़राब रहने के कारण मीना कुमारी को बचपन में ही स्कूल छोड़ देना पड़ा। वर्ष 1939 में बतौर बाल कलाकार उनको विजय भट्ट की फ़िल्म 'लेदरफेस' में काम करने का मौक़ा मिला।