छत्तीसगढ़ के ‘पा’ शैलेन्द्र ध्रुव की इच्छी हुई पूरी, एक दिन के लिए बने गरियाबंद कलेक्टर

गरियाबंद। छत्तीसगढ़ के ‘पा’ शैलेन्द्र ध्रुव की इच्छी शुक्रवार को पूरी हो गई हैं। मुख्यमंत्री के निर्देश पर वे आज एक दिन के लिए गरियाबंद कलेक्टर बन गए हैं। दरअसल शैलेन्द्र ध्रुव एक दुर्लभ बीमारी प्रोजेरिया नामक बीमारी से ग्रसित है। शैलेन्द्र छुरा विकासखंड के मेढक़ीडबरी गांव में रहता है। शैलेन्द्र की हालत हू-ब-हू अमिताभ बच्चन की फिल्म ‘पा’ के ओरो जैसी है। शैलेन्द्र वैसे तो मात्र 16 साल का है, लेकिन बीमारी के कारण उसकी शारीरिक कोशिकाओं का अधिक विकास हो चुका है। इसके कारण उसकी त्वचा 80 साल के बुजुर्ग जैसी नजर आती हैं। शैलेन्द्र स्कूल जाता है, लेकिन शिक्षक पढ़ाई को लेकर कभी उस पर कोई दबाव नहीं डालते हैं। वह दूसरे बच्चों की तरह ना तो शरारत करता है और ना ही खेलता है। स्कूल के सब बच्चे भी उसके साथ सामान्य व्यवहार करते हैं।