अस्थायी नाका और चेक प्वाइंट का कलेक्टर-एसपी ने किया निरीक्षण, लोगों को घर में रहने की दी हिदायत

जगदलपुर। कलेक्टर रजत बंसल, पुलिस कप्तान दीपक झा, सहायक कलेक्टर सूरुची सिंह सहित अन्य अधिकारियों की एक टीम अचानक रविवार देर शाम निरीक्षण में निकली। सबसे पहले कलेक्टर सहित अन्य अधिकारी उड़ीसा बॉर्डर के चांदली में पहुंचकर वहां के सुरक्षा इंतजाम का जायजा लिया। कर्मचारियों को सख्त हिदायत दी गई कि आने जाने वाले लोगों को बारीकी से जांच कर ही आगे बढ़ने दिया जाए। बेवजह घर से निकलने वालों पर अनुशासनात्मक कार्यवाही के लिए पुलिस अधिकारी को निर्देश दिए गए। इसके बाद बाइपास रोड होते हुए अधिकारियों का काफिला जगदलपुर पहुंचा। शहर के हर एक  चेक प्वाइंट पर  कलेक्टर व अन्य अधिकारी ने पुलिस कर्मचारी व वॉलिंटियर्स  से पूछताछ की। वॉलेंटियर्स व पुलिस के जवानों ने अधिकारियों को बताया कि विभिन्न समाजसेवी संगठनों की ओर से चाय, नाश्ता व भोजन की व्यवस्था प्रतिदिन की जा रही है। इसके साथ ही पुलिस विभाग की ओर से भी समय-समय पर स्वल्पाहार की व्यवस्था की गई है। कलेक्टर ने कहा कि बेवजह बाहर निकलने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाए। बता दें कि जिले में 15 अप्रैल शाम 6 से 22 अप्रैल के रात 12 बजे तक लॉकडाउन लगाया गया है।

कलेक्टर बंसल ने लोगों से अपील की है कि लॉकडाउन में लोग अपने घरों पर सुरक्षित रहें। कोरोना का प्रकोप बस्तर जिला में भी बढ़ता जा रहा है। इसलिए लॉकडाउन की स्थिति पैदा हुई है। सभी वॉलिंटियर्स सुबह व शाम चार-चार घंटा पुलिस कर्मचारियों के साथ अपनी सेवाएं देंगे। शहर के अनुपमा चौक, गुरु गोविंद सिंह चौक, संजय मार्केट ,धरमपुरा, बस स्टैंड सहित अनेक चौक चौराहों में पुलिस कर्मचारियों की जहां ड्यूटी लगाई गई है। यहां सभी वॉलिंटियर्स मौजूद रहेंगे। एसपी दीपक झा ने बताया कि बस्तर जिले में संपूर्ण लॉकडाउन लगाया गया है। इसे लेकर जिला प्रशासन ने गाइडलाइन जारी किया है। प्रमुख चौक चौराहों पर पुलिस बल तैनात रहेगा। बेवजह घर से बाहर निकलने वालों पर कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने बताया 15 से 22 अप्रैल तक लॉकडाउन के दौरान पुलिस ने जगदलपुर शहर को अलग-अलग सेक्टर में बांटकर संवेदनशील चौक चौराहों पर पुलिस अधिकारियों के नेतृत्व में 6 जगहों पर चिन्हांकित कर फिक्स पॉइंट बनाए हैं। इसके अलावा शहर में 4 पेट्रोलिंग पार्टी की व्यवस्था भी की गई है। चप्पे-चप्पे पर जवान तैनात हैं।