वाल्मिकी रामायण कथा से पहले राजधानी में निकली भगवान राम की झांकी

रायपुर। श्रद्धा विश्वास समूह परिवार द्वारा आयोजित श्रीमद् बाल्मिकी रामायण कथा का आयोजन आज से 10 दिसम्बर के मध्य अयोध्या से आए रामानुजाचार्य स्वामी वशुदेवाचार्य विद्याभास्कार महाराज अपने मुखारविंद से शुरू किया। पंडित यदुवंशमणि त्रिपाठी ने बताया कि रायपुर में पहली बार बाल्मीकि रामायण कथा का आयोजन किया गया है तथा ये भी बताया की छत्तीसगढ़ राज्य शास्त्रों में कौशल प्रदेश के रूप में वर्णित है जो की मां कौशल्या की शास्त्र वर्णित एवं वर्तमान में प्रकट मायका एवम प्रभु श्री राम का ननिहाल है इसलिए श्री बाल्मीकि रामायण की वेद तुल्य ही प्रतिष्ठा है। अयोध्या से महाराज स्वामी विद्याभास्कार एक ऐसे कथा वाचक है जो धाराप्रवाह संस्कृत में बाल्मीकि रामायण कथा बोलने का ज्ञान रखते हैं। कथा का आयोजन श्री लाल गंगा पटवा भवन टैगोर नगर संगवारी विधायक विश्रामगृह के सामने लगातार दस दिनों तक कथा का आयोजन किया जा रहा हैं । कथावाचन दोपहर 3 बजे शाम 7 बजे के मध्य किया जा रहा है। जिसमे राम दरबार की भव्यता की झांकी निकाली और हवन अनुष्ठान भी लगातार प्रखंड पंडितों द्वारा होता रहेगा। संरक्षक मंडल के सदस्य अखिलेश सिंह ने बताया की भोग भंडारा प्रसाद की व्यवस्था आने वाले भक्तों और श्रद्धालुओं 5 के लिए सुचारू रूप से व्यवस्थित किया गया है।