यौन अपराध में पीड़िता के माता-पिता आरोपी से समझौता नहीं कर सकते

चंडीगढ़/रायपुर। पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय ने व्यवस्था दी है कि यौन अपराध के शिकार एक बच्चे के माता पिता आरोपी के साथ समझौता नहीं कर सकते। न्यायमूर्ति पंकज जैन की पीठ ने यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण (पॉक्सो) अधिनियम के तहत दर्ज प्राथमिकी को रद्द करने की मांग वाली याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि माता-पिता को बच्चे की गरिमा से समझौता करने की अनुमति नहीं दी जा सकती। हरियाणा के सिरसा के महिला पुलिस थाना, डबवाली में 2019 में भादंवि की धारा 452 और 506 और पॉक्सो के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई थी।