भूपेश बघेल ने चैंबर के प्रतिनिधियों से की चर्चा,अति आवश्यक दुकानों को खोलने कलेक्टरों को दी अनुमति 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बुधवार शाम राजधानी स्थित अपने निवास कार्यालय से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 4 जिलों के चैंबर ऑफ  कॉमर्स के प्रतिनिधियों से कोविड-19 के संबंध में चर्चा की।  मुख्यमंत्रीने कहा कि राज्य में सभी वर्ग के लोगों के हित को ध्यान में रखते हुए कार्य किया जा रहा है। इनमें व्यापार-व्यवसाय का भी कोविड अनुकूल व्यवहार और शासन के दिशानिर्देशों का शत-प्रतिशत पालन सहित संचालन की जरूरत हौ। इससे लोगों को कोई असुविधा न होने पाए। उन्होंने इसके मद्देनजर संबंधित जिला कलेक्टरों को स्थानीय परिस्थिति के अनुरूप अति आवश्यक दुकानों को अलग-अलग अवधि और समय में खोलने के लिए छूट देने निर्देश दिए।

 उन्होंने कहा कि इनमें कहीं भी भीड़ एकत्र न हो, इसका विशेष ध्यान रखा जाए। इसी तरह वहां कोविड-19 के नियमों का भी नियमत: पालन तय करने के संबंध में निर्देशित किया। मुख्यमंत्री ने इसके लिए कलेक्टरों को चैंबर ऑफ  कॉमर्स सहित सभी वर्ग के लोगों से चर्चा कर, उन्हें विश्वास में लेते हुए आवश्यक कार्रवाई तय करने के निर्देश दिए। इस दौरान गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू, कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे और वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री मोहम्मद अकबर सहित रायपुर, दुर्ग, राजनांदगांव और बिलासपुर के कलेक्टर और व्यापारिक प्रतिनिधि शामिल हुए। बैठक में अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू और मुख्यमंत्री के सचिव सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी उपस्थित थे। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में कोरोना संकट से निपटने में शासन-प्रशासन के साथ-साथ सभी वर्ग के लोगों की भागीदारी रही है। यहां सबके सहयोग से कोरोना को जल्द से जल्द हराना है। वर्तमान में प्रदेश भर में लॉकडाउन की स्थिति में लोगों को कोई असुविधा न हो, इसका विशेष ध्यान रखा जा रहा है। इस कड़ी में उन्होंने आज चैंबर ऑफ कॉमर्स के प्रतिनिधियों की बैठक ली। इसमें व्यापारिक प्रतिनिधियों ने कोरोना नियंत्रण के लिए हर संभव मदद देने सहित दुकान आदि के संचालन के संबंध में आवश्यक सुझाव भी दिए।  गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि राज्य में मुख्यमंत्री बघेल के निर्देशन में कोरोना नियंत्रण के लिए हर संभव उपाए किए जा रहे हैं, इसका अच्छा परिणाम भी दिख रहा है। इस दौरान हम सभी को सावधानियों का पालन करना बहुत जरूरी है। कार्यक्रम में कृषि मंत्री चौबे ने कहा कि लॉकडाउन अभी खत्म नहीं हुआ है। इसका ध्यान रखना जरूरी है। इसी तरह वन मंत्री अकबर ने कहा कि अति आवश्यक दुकानों को ही सीमित अवधि के लिए अलग-अलग समय में छूट दी जानी चाहिए। इस दौरान कोविड अनुकूल व्यवहार के पालन पर भी विशेष जोर दिया।

 


अभी-अभी

और पढ़ें