राज्यपाल पर अमर्यादित टिप्पणी भूपेश की बौखलाहट का प्रमाण- देवलाल ठाकुर

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश भाजपा प्रवक्ता देवलाल ठाकुर ने राज्यपाल के विरुद्ध मुख्यमंत्री की टिप्पणियों को अमर्यादित करार देते हुए कहा है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अपनी संवैधानिक मर्यादाओं का तो पालन कर नहीं पा रहे हैं। अब लगता है कि शाब्दिक मर्यादा भी भूल गए हैं। वे राज्यपाल से कहते हैं कि मुहूर्त निकालना पड़ेगा। ऐसी भाषा का उपयोग मुख्यमंत्री जैसे पद पर बैठे व्यक्ति को शोभा नहीं देता। आरक्षण के मामले में मुख्यमंत्री जनता के सवालों से घिर गए हैं और बौखलाहट में अनाप-शनाप बयान दे रहे हैं। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता देवलाल ठाकुर ने कहा कि भूपेश बघेल सरकार द्वारा हाई कोर्ट में साजिशन पक्ष ठीक से न रखने के कारण छत्तीसगढ़ में आरक्षण रद्द हुआ। अब सुप्रीम कोर्ट ने भी उस पर स्टे देने से मना कर दिया। जिस कॉन्टिफाइवल डाटा आयोग की रिपोर्ट के आधार पर विधानसभा में भूपेश बघेल सरकार ने आरक्षण विधेयक लाया था, वह डाटा न तो विधानसभा को दिखा रहे हैं न राज्यपाल को दिखा रहे हैं। भूपेश बघेल जी छत्तीसगढ़ की जनता को ठगना बंद कर दीजिए। जनता अब आपकी कलाबाजियों को समझ गई है। इसीलिए जगह- जगह भेंट मुलाकात में आपसे प्रश्न पूछती है और आप बौखला जाते हैं। एक खानदान छोड़कर किसी और का सम्मान तो आप कर नहीं सकते। कम से कम अपने पद की गरिमा का सम्मान करना तो सीख लें।