चरणदास महंत बोले- झीरम घाटी में कांग्रेस के नेताओं की ही हत्या क्यों हुई?

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा में अमर शहीदों के परिजनों का सम्मान किया गया था। जिसमें शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई। इसके अलावा झीरम के वीरों के नाम से एक पुस्तक का विमोचन भी किया गया। विधानसभा अध्यक्ष ने इस दौरान कई सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा कि झीरम घाटी की घटना बर्बरता का उदाहरण है। जिसने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया था। नक्सलियों ने हमारे नेताओं को बर्बरता से मौत के घाट उतार दिया। महंत ने कहा कि घटना का कोई क्लू अभी तक नहीं मिला है। उस घटना में कांग्रेस के नेताओं की ही हत्या क्यों हुई? आखिर पीड़ितों को न्याय कब मिलेगा। मैं सरकार से मांग करता हूं कि पीड़ितों को जल्द न्याय मिले और उनके बच्चो को सरकार जो भी दे सकती है वो दे। उन्होंने कहा कि घटना को याद करते हुए कहा कि आज हम सभी ने शपथ ली है, देखना होगा हम पीड़ित परिजनों को कितना और कब तक न्याय दिला पाते हैं। हमारे सामने ये एक प्रश्नचिन्ह है। उन्होंने कहा कि खबरों के जरिए झीरम के मामले को सामने लाया जाता रहा है।