कांग्रेस का नव-संकल्प एक परिवार- एक टिकट, दूसरे को तभी मिलेगा टिकट जब 5 साल काम किया हो

उदयपुर/रायपुर। कांग्रेस ने अपने चिंतन शिविर के आखिरी दिन कई बड़े सुधारों वाले 'नवसंकल्प' मसौदे का अनुमोदन किया, जिसमें 'एक परिवार, एक टिकट' की व्यवस्था सबसे प्रमुख है। साथ ही, यह शर्त भी रखी गई है कि परिवार के किसी दूसरे व्यक्ति को टिकट तभी मिलेगा, जब उसने संगठन के लिए कम से कम पांच साल तक काम किया हो। सूत्रों के अनुसार, 'एक परिवार, एक टिकट' की व्यवस्था सुनिश्चित करने के प्रावधान को मंजूरी देने के साथ ही पार्टी की शीर्ष नीति निर्धारक इकाई कांग्रेस कार्य समिति ने अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यकों का संगठन में प्रतिनिधित्व बढ़ाकर 50 प्रतिशत करने को भी स्वीकृति प्रदान की है। पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने 'नवसंकल्प चिंतन शिविर' से पहले राजनीति, सामाजिक न्याय एवं सशक्तीकरण, अर्थव्यवस्था, संगठन, किसान एवं कृषि तथा युवा और सशक्तीकरण से संबंधित